Connect with us

देश

रिनोवेशन के नाम पर फुटब्रिज को सिर्फ पेंट किया, केबल को पॉलिश…

Published

on

Morbi Bridge Collapse Investigation: गुजरात के मोरबी में रविवार शाम को हैंगिंग ब्रिज गिरने से करीब 140 लोगों की जान चली गई। मरने वालों में कम से कम 47 बच्चे, कई महिलाएं और बुजुर्ग शामिल हैं। हादसे की जांच एसआईटी को सौंपी गई है। जांच में अब तक चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं।

ब्रिज को गुजरात नव वर्ष पर खोले जाने के दौरान रिनोवेशन करने वाली कंपनी का दावा किया गया था कि 2 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं, लेकिन अब तक जांच में पता चला है कि कंपनी ने जिस ब्रिज को रिनोवेशन के नाम पर आठ महीने से बंद रखा था, उसकी पूरी मरम्मत नहीं की गई थी। सिर्फ फुटब्रिज को पेंट किया गया था जबकि जिस केबल के जरिए ब्रिज लटका था, उसे बदलने के बजाए सिर्फ पॉलिश किया गया था।

अबतक जांच में क्या सामने आया?

  • अब तक की जांच में सामने आया है कि पुल की मरम्मत से पहले ठीक तरीके से आकलन नहीं किया गया। साथ ही इमरजेंसी एग्जिट और निकासी योजना पर भी ध्यान नहीं दिया गया था। साथ ही रिनोवेशन में घटिया सामानों का यूज किया गया था। इस तरह रिनोवेशन में चूक की लंबी लिस्ट सामने आई है।
  • मोरबी ब्रिज का रिनोवेशन देखने वाले ओरेवा ग्रुप पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं कि आखिर किस आधार पर इस फर्म को पुल के रिनोवेशन का ठेका दिया गया था।
  • मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि ऐसा लगता है कि ठेकेदार ने 26 अक्टूबर को जनता के लिए पुल को फिर से खोलने से पहले सभी केबलों को पेंट और पॉलिश किया है।
  • अधिकारी ने कहा कि हमें अभी तक यह पुष्टि करने के लिए कुछ भी नहीं मिला है कि खराब हो चुके केबलों में से कोई भी बदल दिया गया है या नहीं। हम इसके हर पहलू पर विस्तार से विचार कर रहे हैं।

दीवार घड़ी बनाने वाली कंपनी को सौंपा जिम्मा

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ओरेवा कंपनी LED बल्ब, वॉल क्लॉक और ई-बाइक में माहिर है। फिलहाल, जांच का विषय है कि 100 साल से अधिक पुराने पुल के रखरखाव का ठेका इस कंपनी को कैसे मिला?

  • लगभग 50 साल पहले ओधवजी राघवजी पटेल ने इस कंपनी की स्थापना की थी। कंपनी अजंता और ओरपाट ब्रांडों के तहत दीवार घड़ियों का निर्माण करती है।
  • ओधवजी पटेल का इस महीने की शुरुआत में 88 वर्ष की आयु में निधन हो गया था। 1971 में 45 वर्ष की आयु में एक उद्यमी बनने से पहले स्कूल में विज्ञान के शिक्षक थे।
  • लगभग 800 करोड़ रुपये के कारोबार के साथ अजंता मैन्युफैक्चरिंग प्राइवेट लिमिटेड लाइट्स प्रोडक्ट्स, बैटरी से चलने वाली बाइक, घरेलू उपकरणों, बिजली के सामान और इलेक्ट्रॉनिक सामान जैसे टेलीफोन, कैलकुलेटर और एलईडी टीवी सहित अन्य व्यावसायिक क्षेत्रों में भी मौजूद है।
  • वेबसाइट पर अपने प्रोफाइल में ओरेवा समूह का दावा है कि वह 6,000 से अधिक लोगों को रोजगार देता है।

पुलिस की प्राथमिकी क्या कहती है?

गुजरात पुलिस ने अपनी प्राथमिकी में किसी आरोपी की पहचान नहीं की है, लेकिन हैंगिंग ब्रिज की मरम्मत करने वाली एजेंसी, उसके मैनेजमेंट और कंपनी के साथ जुड़े अन्य लोगों समेत कुल 9 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।

प्राथमिकी में आरोप लगाया गया है कि मोरबी हैंगिंग ब्रिज का काम देखने वाली कंपनी ने पुल को खोलने से पहले उसके गुणवत्ता की जांच या फिर भार सहने की क्षमता को नहीं जांचा और 25 अक्टूबर को जनता के लिए पुल को खोल दिया।

पुलिस के मुताबिक, ये पूरी तरह लापरवाही का मामला है। ऐसा लगता है कि ये जानबूझकर किया गया था। आरोपियों ने गैर इरादतन हत्या के लिए आईपीसी की धारा के तहत अपराध किया है।

Continue Reading
Advertisement

देश

जोशीमठ में आफत लेकर आई बारिश, रिलीफ कैंपस पहुंचे सीएम धामी तो रो पड़े लोग

रिलीफ कैंपस पहुंचे सीएम धामी तो रो पड़े लोग

Published

on

Joshimath Sinking: जोशीमठ में हालात और खराब हो गए हैं। सरकार की तरफ से अभी तक ऐसे इंतजाम नहीं किए गए हैं, जिससे लोगों की दिक्कतें कम हो। ऐसे में बारिश एक नई तरह की टेंशन लेकर आई है। मौसम ने सबकी चिंता को और बढ़ा दिया है। जो दरारें घरों में बनी हैं वह और बढ़ सकती है। पूरे इलाकों को रेड जोन घोषित कर दिया गया है। माकानों को चिन्हित कर उन्हें खाली कराए जा रहे हैं। इस बीच सीएम धामी जब राहत कैंप पहुंचे तो उन्हें गुस्सा का सामना करना पड़ा।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार सुबह जोशीमठ के नरसिंह मंदिर में पूजा अर्चना की। सीएम धामी बुधवार रात से ही जोशीमठ में हैं। उन्होंने बीती रात अलग-अलग राहत कैंपों में जाकर प्रभावित परिवारों से मुलाकात की। उन्होंने रिलीफ कैंपस में पहुंचकर लोगों की समस्याएं जानी और उन्होंने हर संभव मदद का आश्वासन किया।रिलीफ कैंप में खुद सीएम पुष्कर सिंह धामी को अपने बीच देख कई महिलाएं रोने लगीं। लोगों ने मुख्यमंत्री से तुरंत सहायता की अपील की।

Continue Reading

देश

दिल्ली से लेकर यूपी-बिहार तक बारिश का अलर्ट

Weather Update

Published

on

Weather Update: दिल्ली और इसके आसपास के इलाकों में गुरुवार को भीषण शीतलहर से राहत मिली। आज सुबह क्षेत्र में कोहरा कम होने से एनसीआर में दृश्यता में सुधार हुआ। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश सहित उत्तरी भारत में कोहरे की स्थिति में वर्तमान पश्चिमी विक्षोभ और परिणामस्वरूप तेज सतही हवाओं के कारण काफी सुधार हुआ है।

इसके साथ ही अब भारत मौसम विज्ञान (IMD) ने कई राज्यों में बारिश को लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है। राजधानी दिल्ली में भी मौसम में थोड़ा बदलाव देखने को मिला है। न्यूनतम तापमान अब बढ़ने लगा है। तेज हवाओं के साथ हल्कि बूंदा-बांदी का दौर जारी है।

उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में हल्की बारिश हो सकती है। पश्चिमी डिस्टर्बेंस की वजह से उत्तर भारत में मौसम करवट ले सकता है। दिल्ली समेत उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में अगले चार दिनों तक शीतलहर से राहत रहेगी। इसके बाद एक बार फिर मौसम के बदलने की संभावना है। बादल छाए रहने और हल्की बारिश के बीच गुरुवार को राजधानी में न्यूनतम तापमान 9 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ने की संभावना है।

दिल्ली में हल्की बारिश का अनुमान

आईएमडी ने बुधवार को कहा कि उत्तर-पश्चिम भारत को प्रभावित करने वाले मजबूत पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से राष्ट्रीय राजधानी में अगले दो दिनों तक बादल छाए रहेंगे और हल्की बारिश होगी। उसी दिन, घने कोहरे की चादर ने दिल्ली में सुबह दृश्यता को घटाकर केवल 50 मीटर कर दिया, जिससे वाहनों और ट्रेनों की आवाजाही बाधित हो गई। आईएमडी के एक अधिकारी ने कहा, “घने से बहुत घने कोहरे की एक परत पंजाब से लेकर बिहार, हरियाणा, दिल्ली और उत्तर प्रदेश तक फैली हुई है।” कोहरे के कारण 95 ट्रेनें देरी से चल रही हैं, जबकि आईजीआई हवाईअड्डे पर उड़ानें प्रभावित हुई हैं।

Continue Reading

देश

15 जनवरी को एक ओर Vande Bharat ट्रेन को हरी झंड़ी दिखाएंगे पीएम मोदी

Vande Bharat

Published

on

Vande Bharat: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 जनवरी को सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन से वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन को वर्चुअली हरी झंडी दिखाएंगे। जानकारी के मुताबिक यह देश की आठवीं वंदे भारत ट्रेन होगी। इससे पहले नई दिल्ली-वाराणसी, नई दिल्ली-वैष्णो देवी, गांधीनगर-मुंबई, चेन्नई-मैसूर समेत अन्य रूट पर वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलाई जाती है।

बता दें वंदे भारत ट्रेन में ऑटोमेटिक स्लाइट डोर लगे हुए होते हैं। इसके हर गेट के बाहर ऑटोमेटिक फुट रेस्ट भी होता है। वंदे भारत ट्रेन की सीटें पैसेंजर्स की सुविधा के लिए रीक्लाइनिंग होती हैं। हर सीट के नीचे चार्जिंग प्वाइंट्स भी दिए गए होते हैं। ट्रेन में पैसेंजर्स के एंटरटेनमेंट का भी पूरा ध्यान रखा जाता है। इसमें 32 इंच की टीवी स्क्रीन भी लगी हुई होती है। इस ट्रेन की ऑपरेशनल स्पीड 160 किमी प्रति घंटा है।

Continue Reading

Trending