Hariyali Teej 2024 kab hai Puja time why womens observed fast on this sawan festival significance

हरियाली तीज का त्योहार भगवान शंकर और माता पार्वती के मिलन का प्रतीक है. मान्यता है इसी दिन देवी पार्वती ने शंकर जी को पति के रूप में पाया था.

हरियाली तीज का त्योहार भगवान शंकर और माता पार्वती के मिलन का प्रतीक है. मान्यता है इसी दिन देवी पार्वती ने शंकर जी को पति के रूप में पाया था.

इस साल हरियाली तीज 7 अगस्त 2024, बुधवार को है. यूपी, बिहार, झारखण्ड में हरियाली तीज धूमधाम से मनाई जाती है. इसे सावन तीज भी कहते हैं.

इस साल हरियाली तीज 7 अगस्त 2024, बुधवार को है. यूपी, बिहार, झारखण्ड में हरियाली तीज धूमधाम से मनाई जाती है. इसे सावन तीज भी कहते हैं.

सावन महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि पर 6 अगस्त 2024 को रात 07 बजकर 52 मिनट से आरंभ होगी. तृतीया तिथि का समापन 7 अगस्त 2024 को रात 10 बजकर 05 मिनट तक है.

सावन महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि पर 6 अगस्त 2024 को रात 07 बजकर 52 मिनट से आरंभ होगी. तृतीया तिथि का समापन 7 अगस्त 2024 को रात 10 बजकर 05 मिनट तक है.

हरियाली तीज पर सुबह 05.46 से सुबह 09.06 तक पूजा का शुभ मुहूर्त है. साथ ही सुबह 10.46 से दोपहर 12.27 के बीच भी पूजन का मुहूर्त बन रहा है.

हरियाली तीज पर सुबह 05.46 से सुबह 09.06 तक पूजा का शुभ मुहूर्त है. साथ ही सुबह 10.46 से दोपहर 12.27 के बीच भी पूजन का मुहूर्त बन रहा है.

कुंवारी लड़कियां इस दिन अच्छे पति की प्राप्ति के लिए व्रत रखती हैं और शंकर-पार्वती की पूजा कर शीघ्र विवाह की कामना करती हैं.

कुंवारी लड़कियां इस दिन अच्छे पति की प्राप्ति के लिए व्रत रखती हैं और शंकर-पार्वती की पूजा कर शीघ्र विवाह की कामना करती हैं.

हरियाली तीज का व्रत पति की लंबी उम्र के लिए भी रखा जाता है. ऐसी मान्‍यता जो सुहागिनें इस दिन निर्जल व्रत कर पूजा करती हैं उन्हें अखंड सौभाग्य और पति की दीर्धायु का आशीर्वाद मिलती है.

हरियाली तीज का व्रत पति की लंबी उम्र के लिए भी रखा जाता है. ऐसी मान्‍यता जो सुहागिनें इस दिन निर्जल व्रत कर पूजा करती हैं उन्हें अखंड सौभाग्य और पति की दीर्धायु का आशीर्वाद मिलती है.

Published at : 10 Jul 2024 08:07 PM (IST)

ऐस्ट्रो फोटो गैलरी

ऐस्ट्रो वेब स्टोरीज

Read More at www.abplive.com