Guru Purnima 22 july 2024 Puja muhurat Vidhi mantra know all details

गुरु पूर्णिमा के दिन गीता पाठ करने के बाद कुछ देर गाय की सेवा करना चाहिए. इससे करियर में लाभ मिलता है.

गुरु पूर्णिमा के दिन गीता पाठ करने के बाद कुछ देर गाय की सेवा करना चाहिए. इससे करियर में लाभ मिलता है.

उस पर चंदन से 12 सीधी और 12 आड़ी रेखाएं खींचकर व्यास-पीठ बना लें. इसके बाद गुरु पूजा का संकल्प लें और दसों दिशाओं में चावल छोड़ें.

उस पर चंदन से 12 सीधी और 12 आड़ी रेखाएं खींचकर व्यास-पीठ बना लें. इसके बाद गुरु पूजा का संकल्प लें और दसों दिशाओं में चावल छोड़ें.

फल, फूल, कुमकुम, हल्दी, आदि पूजन सामग्री से व्यास जी की पूजा करें. इस दिन गुरु दीक्षा लेने की भी परंपरा है.

फल, फूल, कुमकुम, हल्दी, आदि पूजन सामग्री से व्यास जी की पूजा करें. इस दिन गुरु दीक्षा लेने की भी परंपरा है.

गुरु पूर्णिमा पर किसी जरूरतमंद व्यक्ति को पीले अनाज, पीले वस्त्र और पिली रंग की मिठाई दान करनी चाहिए. इससे कुंडली में गुरु ग्रह मजबूत होता है.

गुरु पूर्णिमा पर किसी जरूरतमंद व्यक्ति को पीले अनाज, पीले वस्त्र और पिली रंग की मिठाई दान करनी चाहिए. इससे कुंडली में गुरु ग्रह मजबूत होता है.

धर्म ग्रंथों में गुरु के महीमा का बखान कई रूप में किया गया है. लोग गुरु के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए गुरु पूर्णिमा पर उनकी विशेष पूजा करते हैं, गुरुजन को तिलक लगाकर फूलों की माला पहनाई जाती है. उन्हें वस्त्र, फल, फूल, भेंट दिए जाते हैं.

धर्म ग्रंथों में गुरु के महीमा का बखान कई रूप में किया गया है. लोग गुरु के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए गुरु पूर्णिमा पर उनकी विशेष पूजा करते हैं, गुरुजन को तिलक लगाकर फूलों की माला पहनाई जाती है. उन्हें वस्त्र, फल, फूल, भेंट दिए जाते हैं.

Published at : 10 Jul 2024 07:19 PM (IST)

ऐस्ट्रो फोटो गैलरी

ऐस्ट्रो वेब स्टोरीज

Read More at www.abplive.com