Daily Voice: पहले प्रॉफिट बुक किया, अब खरीदारी कर रहें, मोटी कमाई के लिए जानिए फंड मैनेजर हेमंत शाह की स्ट्रेटेजी

लोकसभा चुनावों के नतीजों से पहले स्टॉक मार्केट में काफी उतारचढ़ाव दिख रहा है। इससे रिटेल इनवेस्टर्स काफी कनफ्यूज्ड हैं। उनकी मुश्किल दूर करने के लिए मनीकंट्रोल ने सेवेन आईलैंड्स पीएमएस के फंड मैनेजर हेमंत शाह से बातचीत की। उनसे उनके इनवेस्टमेंट स्ट्रेटेजी के बारे में पूछा। शाह ने कंपनियों के मार्च तिमाही के नतीजों पर अपनी राय सहित कई अहम बातें बताईं।

इंफ्रा और रेलवे सेक्टर में निवेश के मौके

Hemant Shah ने कहा कि मार्च तिमाही ने मल्टीनेशनल (Multinational) और मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों (Manufacturing Companies) के शानदार प्रदर्शन ने चौंकाया है। दोनों के प्रदर्शन बहुत उत्साहजनक रहे हैं। उन्होंने बताया कि लोकसभा चुनावों के फेवरेबल नतीजों (Lok Sabha Elections Results) को देखते हुए इंफ्रास्ट्रक्चर और रेलवे सेक्टर में निवेश के मौके दिख रहे हैं।

पहले मुनाफावसूली फिर खरीदारी

अपनी इनवेस्टमेंट स्ट्रेटेजी के बारे में बताते हुए शाह ने कहा कि हमने कुछ शानदार प्रॉफिट बुक किया है। इसलिए हमारे पास कैश है। यह कहा जा सकता है कि धीर-धीरे हमने खरीदारी शुरू की है। लोकसभा चुनावों से पहले स्टॉक मार्केट्स में उतारचढ़ाव आम बात है। हमारा मानना है कि उतारचढ़ाव और कुछ करेक्शन की वजह से हमारे लिए उन कंपनियों के स्टॉक्स में खरीदारी करने के अच्छे मौके हैं, जिनमें वैल्यू दिख रही है। प्रॉफिट बुक करने की वजह ज्यादा वैल्यूएशन थी। हमारा मानना है कि लोकसभा चुनावों के बाद हमें देर या सवेर मार्केट नहीं ऊंचाई पर दिखेगा।

नतीजें खराब रहने पर भी मार्केट पर ज्यादा असर नहीं

उन्होंने कहा कि अगर केंद्र में फिर से बहुमत के साथ मौजूदा सरकार की वापसी होती है तो यह स्टॉक मार्केट के लिए बहुत अच्छा होगा। अगर एनडीए को बाजार की उम्मीद से कम सीटें आती हैं तो इस झटके से मार्केट 2 या 3 हफ्तों के अंदर उबर जाएगा। ज्यादा सीटें मिलने की स्थिति में तो मार्केट में बड़ी तेजी देखने को मिलेगी। इसके बाद भी मैं कहना चाहूंगा कि हमें उन खास कंपनियों पर फोकस रखने की जरूरत है, जिनकी वैल्यूएशन अट्रैक्टिव है।

यह भी पढ़ें: कुछ हफ्तों में छ्प्परफाड़ कमाई चाहते हैं तो TVS Motor, MTAR Tech सहित इन स्टॉक्स पर लगा सकते हैं दांव

निवेश में इन बातों का खास ध्यान

आप निवेश के दौरान किन बातों पर ध्यान देते हैं? इसके जवाब में शाह ने कहा कि हम निवेश से पहले वैल्यू और विजिबिलिटी देखते हैं। हमारा फोकस मैनेजमेंट पर भी होता है। इन तीन चीजों को देखने के बाद हम निवेश का फैसला लेते हैं। हम लंबी अवधि के लिए निवेश करते हैं। इसलिए हम कई सेक्टर में कई कंपनियों को ट्रैक करते हैं। इस दौरान हमने देखा है कि ज्यादातर बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने उम्मीद से ज्यादा ग्रोथ दिखाई हैं। SKF Bearing और Timken India इसके उदाहरण हैं। BASF ने भी अच्छे नतीजे देने शुरू कर दिए हैं।

Read More at hindi.moneycontrol.com