Market Wrap: ब्याज दरों पर फोकस के बीच रिकॉर्ड हाई पर बाजार, जानें अगले हफ्ते क्या रहेगा खास

चाहे इक्विटी हो या कमोडिटी बीता हफ्ता दोनों ही बाजारों के लिए बड़ा दिलचस्प रहा. दोनों ही बाजारों में रिकॉर्ड हाई बनते नजर आए. हालांकि, शेयर बाजारों में जोरदार करेक्शन भी देखने को जरूर मिला. आइए जानते हैं बीते हफ्ते बाजार का हाल और अगले हफ्ते कहां रखनी है नजर.

कैसा रहा बीते हफ्ते का हाल?

इक्विटी मार्केट में सेंसेक्स निफ्टी ने अपना रिकॉर्ड हाई छुआ था. कमोडिटी बाजार में छप्परफाड़ तेजी दिखाई दी. हालांकि, दोनों ही बाजारों में हल्की मुनाफावसूली भी देखने को मिली. निफ्टी पहली बार 22,600 के ऊपर तो सेंसेक्स पहली बार 74,450 के लेवल के पार गया. निफ्टी मिडकैप इंडेक्स भी 50,000 के पार निकलने में कामयाब रहा. घरेलू बुलियन मार्केट में सोना पहली बार 70,000 और चांदी 80,000 के पार निकल गई. साथ ही क्रूड की बात कर लेते हैं. मिडिल ईस्ट में इजरायल और ईरान के बीच तनाव एस्केलेट होता देख क्रूड लगातार ऊपर चढ़ गया है. बीते हफ्ते ये 91 डॉलर के पार निकल गया.

US Markets में गिरावट

US Markets का खास जिक्र जरूरी है क्योंकि वहां मार्च 2023 के बाद सबसे कमजोर सेशन देखने को मिला इस हफ्ते और नवंबर के बाद सबसे ज्यादा वॉलेटिलिटी आई है. कारण क्या है? दरअसल, बाजार को इंतजार है ब्याज दरों में कटौती का हालांकि, फेड पॉलिसी में तीन रेट कट के संकेत मिले हैं बेहतर नहीं हो जाती, तबतक कटौती करने की जल्दबाजी उनको नहीं है. अब ब्याज दरें  घटने में देरी की आशंका से वहां बाजार गिर गए हैं.

अब ब्याज दरों की बात है तो RBI Repo Rate का फैसला भी अहम रहा. मॉनेटरी पॉलिसी कमिटी ने FY25 की पहली पॉलिसी में पॉलिसी रेट फिर से 6.5% पर बरकरार रखा है. यहां भी महंगाई को लेकर चिंताएं अभी भी बनी हुई हैं.

करेंसी मार्केट में तेजी

उधर, एशियन बाजारों में कमजोरी तो यूरोपियन बाजारों में मिला-जुला कारोबार देखने को मिला. इक्विटी मार्केट में कमजोरी के चलते बॉन्ड यील्ड और डॉलर इंडेक्स मजबूत होते दिखाई दिए. बॉन्ड यील्ड में 4.3 के ऊपर चल रहा है. डॉलर इंडेक्स 104 के पार है जोकि बड़ा ट्रिगर है. इधर रुपया, इस हफ्ते डॉलर के मुकाबले अपने लोएस्ट लेवल पर पहुंच गया था. रुपये की कमजोरी ने भी बाजार को नीचे की तरफ खींचा.

अगले हफ्ते कहां रखें नजर?

अगले हफ्ते कई ट्रिगर्स दिख रहे हैं बाजार के लिए. सबसे पहले तो यूएस जॉब डेटा के इंपैक्ट पर नजर रहेगी. इसके अलावा, खुदरा और थोक महंगाई के आंकड़े भी आएंगे. अगले हफ्ते से रिजल्ट सीजन भी शुरू हो रहा है. IT Companies Q4 के लिए नतीजे जारी करेंगी. TCS 12 अप्रैल को अपना रिजल्ट जारी करेगी. आखिर में क्रूड, बॉन्ड यील्ड, डॉलर इंडेक्स के मूवमेंट के साथ FIIs, DIIs का अप्रोच बाजार को मूव करेगा.

Read More at www.zeebiz.com