Congress Manifesto पर भाजपा का करारा तंज, थाईलैंड-न्यूयार्क की तस्वीरें छापीं

BJP Attack Congress Manifesto Nyay Patra For Lok Sabha Election 2024 : देश में लोकसभा चुनाव 2024 को सियासी सरगर्मियां तेज हो गई हैं। राजनीतिक पार्टियां पूरी तरह से एक्टिव हो गई हैं। इस बीच कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव 2024 के लिए घोषणा पत्र जारी किया। इसे लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने कांग्रेस के मेनिफेस्टो न्याय पत्र पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि घोषणा पत्र की गंभीरता को इस बात से समझा जा सकता है कि इसमें विदेशी तस्वीरों का इस्तेमाल किया गया है।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में वाटर मैनेजमेंट के नाम पर अमेरिका के न्यूयॉर्क में स्थित बफैलो नदी की तस्वीर छापी गई है। सोशल मीडिया चेयरपर्सन के अकाउंट से किसने ट्वीट कर दिया था, उसका पता कांग्रेस नहीं लगा पाई। ऐसे में कांग्रेस अब यह कैसे पता लगाएगी कि उन्हें विदेश की तस्वीर किसने भेजी और घोषणा पत्र में कैसे छपी।

यह भी पढ़ें : लोकसभा चुनाव से पहले बिहार में महागठबंधन को संजीवनी, मुकेश सहनी की VIP को मिलीं तीन सीटें

भाजपा नेता ने खरगे को भी दिया जवाब

सुधांशु त्रिवेदी ने आगे कहा कि कांग्रेस मेनिफेस्टो की पर्यावरण सेक्शन में भी थाईलैंड की तस्वीर छपी है, जोकि राहुल गांधी की पसंदीदा जगह है। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने आज कहा कि जब कांग्रेस को देश की सत्ता मिली थी, तब एक सुई भी नहीं बनती थी, इस पर भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि हमने तो रॉकेट बना दिया। उन्होंने खरगे को जवाब देते हुए कहा कि भारत का पहला पावर प्रोजेक्ट 1902 में मैसूर में शुरू हुआ था, आजादी से पहले डैम बन गया था, मगर सुई नहीं बनती थी। कांग्रेस झूठ बोल रही है।

यह भी पढ़ें : गोंडा सीट पर बृजभूषण सिंह ने खोला था भाजपा का खाता, इस बार होगा दिलचस्प मुकाबला

झूठ का पुलिंदा है मेनिफेस्टो : सुधांशु त्रिवेदी 

बीजेपी नेता ने कहा कि कांग्रेस का मेनिफेस्टो न्याय पत्र नहीं है, बल्कि यह झूठ का पुलिंदा है। देश में कांग्रेस की कई सालों तक सरकार थी, लेकिन उन्होंने इस समय का सही उपयोग नहीं किया। कांग्रेस के राज में साक्षरता दर काफी कम थी, इसलिए जनता उनकी बातों में आ जाती थी। मोदी सरकार में साक्षरता दर ज्यादा है, इसलिए लोग किसी भ्रम में नहीं फंस रहे हैं।

Read More at hindi.news24online.com