Alvida Jumma 2024 Namaz Time In Your City Noida Delhi Hyderabad Bihar

Alvida Jumma Namaz Time: इस्लाम के मुकद्दस महीने रमजान (Ramadan 2024) का अंतिम शुक्रवार आज 05 अप्रैल 2024 को है. माह-ए-रमजान के आखिरी शुक्रवार को अलविदा जुमा या जुमातुल विदा (Jamat ul vida 2024) भी कहा जाता है. इस दिन रोजेदार मस्जिदों में नमाज अदा करते हैं.

वैसे तो इस्लाम में शुक्रवार के दिन को बहुत ही खास माना जाता है. लेकिन रमजान महीने में पड़ने वाले जुमा का महत्व कई गुना बढ़ जाता है. अलविदा जुमा पर हर मुसलमान के लिए नमाज अदा करना जरूरी माना जाता है. क्योंकि इस्लाम में अलविदा जुमा के नमाज की खास फजीलत है. अलविदा जुमा पर दोपहर के समय नमाज अदा की जाती है. लेकिन अलग-अलग शहरों में नमाज अदा करने के समय में फर्ज होता है. आइये जानते हैं आपके शहर में कितने बजे होगी अलविदा जुमा की नमाज-




अलविदा जुमा नमाज का समय (Alvida Jumma 2024 Namaz Time)
















शहर का नाम (City Name) नमाज का समय (Namaz Time)
 नोएडा (Noida)  दोपहर 12 बजकर 24 मिनट
मुंबई (Mumbai):    दोपहर 12 बजकर 42 मिनट
हैदराबाद (Hyderabad):    दोपहर 12 बजकर 19 मिनट
दिल्ली (Delhi):  दोपहर 12 बजकर 42 मिनट
लखनऊ (Lucknow): दोपहर 12 बजकर 09 मिनट
मेरठ (Meerut) दोपहर 12 बजकर 22 मिनट
कानपुर (Kanpur): दोपहर 12 बजकर 12 मिनट
पटना (Patna) दोपहर 11 बजकर 53 मिनट
चैन्नई (Chennai) दोपहर 12 बजकर 12 मिनट
बेंगलुरु (Bengaluru) दोपहर 12 बजकर 12 मिनट
रांची (Ranchi) दोपहर 11 बजकर 52 मिनट
अहमदाबाद (Ahmedabad) दोपहर 12 बजकर 43 मिनट

जुमे की नमाज का महत्व (Jummah Prayer)

इस्लाम में जुमे की नमाज की खास फजीलत मानी गई है. जुमे की नमाज को लेकर हदीस शरीफ में कहा गया है, हजरत आदम अलैहिस्सलम को जुमे के दिन ही जन्नत से इस दुनिया में भेजा गया और जन्नत में उनकी वापसी भी जुमे की दिन ही हुई. माना जाता है कि, जुमे की दिन अदा की गई नमाज से अल्लाह पूरे हफ्ते की गलतियों को माफ कर देता है और इसका 70 गुना अधिक सवाब मिलता है. रमजान के महीने में आखिरी जुमे को छोटी ईद कहा जाता है.

ये भी पढ़ें: Alvida Jumma Mubarak 2024: रमजान का जुमातुल विदा आज, रोजेदार इन संदेशों के साथ दें अलविदा जुमा की मुबारकबाद
Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

Read More at www.abplive.com