‘जल्द ही बाहर मिलेंगे…’, जेल से मनीष सिसोदिया ने लिखी भावुक चिट्ठी

Manish Sisodia’s Letter : दिल्ली के पूर्व डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia), पिछले एक साल से दिल्ली शराब घोटाले के आरोप में जेल में बंद हैं। जिन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र (पटपड़गंज) के लोगों के नाम एक भावुक चिट्ठी लिखी है। इस चिट्ठी में सिसोदिया ने जल्द ही बाहर मिलने की बात कही है। इसके साथ ही उन्होंने अपनी इस चिट्ठी में केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा है।

पढ़ें :- सीएम केजरीवाल के घर ईडी की तलाशी जारी, राघव चढ्ढा बोले-लोकसभा चुनाव से पहले गिरफ़्तार की बड़ी साज़िश

आम आदमी पार्टी की ओर से सोशल मीडिया पर शेयर की गयी चिट्ठी मनीष सिसोदिया ने लिखा कि पिछले एक साल में मुझे सबकी याद आई। हम सबने बहुत ईमानदारी से मिलकर काम किया। जैसे आजादी के समय सबने लड़ाई लड़ी वैसे ही हम अच्छी शिक्षा और स्कूल के लिए लड़ रहे हैं। केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए सिसोदिया ने लिखा कि अंग्रेजों को भी अपनी सत्ता का बहुत घमंड था, अंग्रेज भी झूठे आरोप लगाकर लोगों को जेल में बंद करते थे अंग्रेजों ने कई सालों तक गांधी और नेल्सन मंडेला को भी जेल में रखा। अंग्रेजों की तानाशाही के बाद भी आजादी का सपना सच हुआ।

दिल्ली के पूर्व डिप्टी सीएम ने यह भी लिखा कि विकसित देश होने के लिए अच्छी शिक्षा, स्कूल का होना जरूरी है। मुझे खुशी है अरविंद केजरीवाल जी के नेतृत्व में दिल्ली में शिक्षा क्रांति आई। अब पंजाब शिक्षा क्रांति की खबर पढ़कर सुकून मिलता है। वैसे ही एक दिन हर बच्चे को सही और अच्छी शिक्षा मिलेगी। चिट्ठी में उन्होंने लिखा, “शिक्षा क्रांति जिंदाबाद, Love You All.”

Read More at hindi.pardaphash.com