Aaj Ka Panchang 5 april 2024 papmochani ekadashi Muhurat yoga Rahu Kaal time Tithi Grah Nakshatra

Today Panchang, Aaj Ka Panchang 5 april 2024: पंचांग के अनुसार 5 अप्रैल 2024 आज पापमोचनी एकादशी पर दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर  श्रीहरि विष्णु का अभिषेक करें. इसके बाद ब्राह्मण को दान दक्षिणा दें. मान्यता है एकादशी पर ऐसा करने से मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है. आपके कार्य में आ रही हर प्रकार की रुकावट दूर होती है. आज से पंचक भी शुरू हो रहा है ऐसे में पांच दिन पैसों का लेन-देन न करें.

आज शुक्रवार भी है. ऐसे में देवी लक्ष्मी को कमल का फूल और एकादशी के शुभ अवसर पर आप गेंदे के फूल चढ़ाएं इससे दुर्भाग्य दूर होता है. ग्रह दोष समाप्त होते हैं. आइए जानते हैं आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त (5 april Shubh muhurat), राहुकाल, शुभ योग, ग्रह परिवर्तन, व्रत-त्योहार, तिथि आज का पंचांग (Panchang in Hindi)

5 अप्रैल 2024 का पंचांग (5 april2024 Panchang)














तिथि एकादशी (4 अप्रैल 2024, शाम 04.19 – 5 अप्रैल 2024, दोपहर 01.28)
पक्ष कृष्ण
वार शुक्रवार
नक्षत्र धनिष्ठा
योग साध्य
राहुकाल सुबह 10.59 – दोपहर 12.24
सूर्योदय सुबह 06.06 – शाम 06.41
चंद्रोदय प्रात: 04.29 – दोपहर 03.00, अप्रैल
दिशा शूल
पश्चिम
चंद्र राशि
मकर
सूर्य राशि मीन

5 अप्रैल 2024 शुभ मुहूर्त (5 april Shubh Muhurat)









ब्रह्म मुहूर्त सुबह 04.35- सुबह 05.21
अभिजित मुहूर्त सुबह 11.59 – दोपहर 12.49
गोधूलि मुहूर्त शाम 06.40 – शाम 07.03
विजय मुहूर्त दोपहर 02.30 – दोपहर 03.20
अमृत मुहूर्त
सुबह 08.37 – सुबह 10.04
निशिता काल मुहूर्त प्रात: 12.01 – दोर रात 12.45, 6 अप्रैल

5 अप्रैल 2024 अशुभ मुहूर्त (Aaj Ka Ashubh Muhurat)

  • यमगण्ड – दोपहर 03.13 – शाम 05.07
  • गुलिक काल – सुबह 07.41 – सुबह 09.15
  • भद्रा काल – सुबह 07.12 – सुबह 06.05, 6 अप्रैल

आज का उपाय

पापमोचनी एकादशी पर शाम के वक्‍त घर के मुख्‍य द्वार पर 9 बत्तियों वाला दीपक जलाएं. ऐसा करने से आपके घर की तरफ मां लक्ष्‍मी आकर्षित होती हैं

Somvati Amavasya 2024: 8 अप्रैल को सोमवती अमावस्या, देव-पितृ पूजा से मिलेगा अक्षय पुण्य, जानें महत्वपूर्ण जानकारी

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

Read More at www.abplive.com