आंध्र प्रदेश: सीएम के खिलाफ की अभद्र टिप्पणी, चुनाव आयोग ने भेजा चंद्रबाबू नायडू को नोटिस

Andhra Pradesh Elections 2024 :  तेलुगु देशम पार्टी (TDP) के प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू (Chandrababu Naidu) को भारतीय निर्वाचन आयोग (ECI) ने नोटिस जारी किया है। उन्हें यह नोटिस आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के खिलाफ कथित तौर पर अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए जारी हुआ है। आरोप है कि नायडू ने 31 मार्च को अपने चुनावी भाषणों में कथित तौर पर जगन मोहन के लिए राक्षस, जानवर और चोर जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया था।

आयोग की ओर से भेजे गए नोटिस के अनुसार नायडू को 48 घंटे के अंदर स्पष्टीकरण देने के लिए कहा गया है । यह नोटिस गुरुवार को जारी किया गया था। बता दें कि आंध्र प्रदेश में सत्ताधारी दल वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के प्रदेश महासचिव और अन्य व्यक्तियों ने नायडू के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। जिसके बाद चुनाव आयोग ने यह कदम उठाया है। बता दें कि आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर आदर्श आचार संहिता लागू है। नायडू पर आचार संहिता का उल्लंघन करने का आरोप है।

प्रदेश में होने हैं विधानसभा और लोकसभा चुनाव

नोटिस के अनुसार नायडू ने येम्मीगनूर, मरकापुरम और बापतला में अपनी रैलियों के दौरान सीएम रेड्डी और उनकी पार्टी के खिलाफ अभद्र शब्दों का इस्तेमाल किया था। चुनाव आयोग ने उनके भाषणों की समीक्षा करने के बाद तय किया कि प्रथम दृष्टया नायडू ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया। आयोग को नायडू के भाषण के वीडियो एक पेन ड्राइव में उपलब्ध कराए गए थे। बता दें कि आंध्र प्रदेश में विधानसभा और लोकसभा चुनाव 13 मई को होने हैं। परिणाम 4 जून को आएंगे।

जगन मोहन ने 151 सीटें जीतकर बनाई थी सरकार

उल्लेखनीय है कि 175 विधानसभा सीटों वाले आंध्र प्रदेश में सरकार बनाने के लिए किसी पार्टी को कम से कम 88 सीटें चाहिए होती हैं। साल 2014 के विधानसभा चुनाव में नायडू की टीडीपी ने 102 सीटें हासिल कर सरकार बनाई थी। जब वाईएसआर कांग्रेस पार्टी को 67 सीटें मिली थीं। भाजपा को इस चुनाव में केवल 2 सीटों पर जीत मिली थी। वहीं, 2019 के चुनाव में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी ने 151 सीटों पर विशाल जीत हासिल की थी। जबकि टीडीपी केवल 23 सीटों पर सिमट गई थी।

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी के गुजरात में क्यों टूटी बीजेपी? समझें 5 पॉइंट में सबकुछ

ये भी पढ़ें: अमेठी से रॉबर्ट वाड्रा चुनाव लड़े तो? देखें कांग्रेस की इनसाइड स्टोरी

ये भी पढ़ें: महाराष्ट्र में शिंदे की शिवसेना ने क्यों काट दिया दो सांसदों का टिकट?

Read More at hindi.news24online.com