करेंसी डेरिवेटिव को लेकर RBI ने जारी किया बयान, अब 5 अप्रैल के बजाय 3 मई से लागू होंगे नए नियम

रिजर्व बैंक (RBI) ने 4 अप्रैल को साफ किया कि एक्सचेंज ट्रेडेड करेंसी डेरिवेटिव के लिए रेगुलेटरी ढांचे को लेकर केंद्रीय बैंक के रवैये में कोई बदलाव नहीं हुआ है। हालांकि, केंद्रीय बैंक ने एक्सचेंज ट्रेडेड डेरिवेटिव कॉन्ट्रैक्ट नियमों को लागू करने के लिए समयसीमा को 5 अप्रैल से बढ़ाकर 3 मई कर दिया है। रिजर्व बैंक के करेंसी डेरिवेटिव नॉर्म्स के मद्देनजर एक्सचेंज ट्रेडेड करेंसी डेरिवेटिव (ETCD) मार्केट में भागीदारी को लेकर चिंता जताए जाने के बाद यह स्पष्टीकरण जारी किया गया है।

रिजर्व बैंक की तरफ से जारी बयान में कहा गया है, ‘यह साफ किया जाता है कि पिछले कई साल से ETCDs में कोई बदलाव नहीं हुआ है और इस संबंध में रिजर्व बैंक की पॉलिसी पहले जैसी है।’ केंद्रीय बैंक ने 5 जनवरी को जारी सर्कुलर में कहा था कि निवेशकों को ऐसे कॉन्ट्रैक्ट की मौजूदगी सुनिश्चित करनी चाहिए जिसकी हेजिंग किसी अन्य डेरिवेटिव कॉन्ट्रैक्ट का इस्तेमाल कर नहीं की गई हो।

इससे पहले मनीकंट्रोल ने खबर दी थी कि रिटेल ट्रेडर्स काफी तेजी से अपनी करेंसी-डेरिवेटिव पोजिशन से बाहर निकल रहे हैं। दरअसल, ब्रोकर्स इन ट्रेडर्स को रिजर्व बैंक के जल्द लागू होने वाले सर्कुलर के बारे में आगाह कर रहे थे। लिहाजा, वे नुकसान सहकर भी इस पोजिशन से बाहर निकल रहे थे। हालांकि, एक्सपर्ट्स का कहना है कि सर्कुलर में जिन शर्तों का जिक्र है, वे नई नहीं हैं और 2020 से लागू हैं।

Read More at hindi.moneycontrol.com