April Panchak 5 april 2024 Start date Time Never do these things in chor panchak

चोर पंचक की शुरुआत 5 अप्रैल 2024 को सुबह 07.12 से होगी. पंचक का समापन 9 अप्रैल 2024 को सुबह 07.32 पर होगा. चूंकि ये चोर पंचक है इसमें धन हानि की संभावना बढ़ जाती है ऐसे में सावधानी बरतें. लेन-देन न करें.

चोर पंचक की शुरुआत 5 अप्रैल 2024 को सुबह 07.12 से होगी. पंचक का समापन 9 अप्रैल 2024 को सुबह 07.32 पर होगा. चूंकि ये चोर पंचक है इसमें धन हानि की संभावना बढ़ जाती है ऐसे में सावधानी बरतें. लेन-देन न करें.

अप्रैल में चोर पंचक पापमोचनी एकादशी से चैत्र नवरात्रि की घटस्थापना तक चलेंगे. ऐसे में पंचक काल के समय व्यक्ति को भूलकर भी कोई भी मांगलिक कार्य, नए व्यापार की शुरुआत, निवेश, शुभ कार्य से जुड़ी सामग्री की खरीदारी नहीं करनी चाहिए. इसके परिणाम अशुभ होते हैं.

अप्रैल में चोर पंचक पापमोचनी एकादशी से चैत्र नवरात्रि की घटस्थापना तक चलेंगे. ऐसे में पंचक काल के समय व्यक्ति को भूलकर भी कोई भी मांगलिक कार्य, नए व्यापार की शुरुआत, निवेश, शुभ कार्य से जुड़ी सामग्री की खरीदारी नहीं करनी चाहिए. इसके परिणाम अशुभ होते हैं.

पंचक में दक्षिण दिशा में यात्रा करने से दुर्घटना, हानि के योग बनते हैं. यदि यात्रा करना बहुत जरूरी हो तो घर से निकलते समय कुछ कदम आगे बढ़कर लौटें और फिर यात्रा शुरू करें.

पंचक में दक्षिण दिशा में यात्रा करने से दुर्घटना, हानि के योग बनते हैं. यदि यात्रा करना बहुत जरूरी हो तो घर से निकलते समय कुछ कदम आगे बढ़कर लौटें और फिर यात्रा शुरू करें.

चोर पंचक के दौरान धन से जुड़े काम जैसे निवेश, बिजनेस की शुरुआत, नौकरी में बदलाव करने से बचना चाहिए. इससे धन हानि हो सकती है.

चोर पंचक के दौरान धन से जुड़े काम जैसे निवेश, बिजनेस की शुरुआत, नौकरी में बदलाव करने से बचना चाहिए. इससे धन हानि हो सकती है.

पंचक में लकड़ी इक्ट्‌ठा करना मना है लेकिन अगर किसी अत्यंत जरूरी कार्य या फिर घर में ईंधन या हवन आदि के लिए लकड़ी लाना बेहद जरूरी हो तो आप इससे लगने वाले दोष से बचने के लिए आटे का पंचमुखी दीया बनाएं और उसे किसी शिवालय में रख आएं. इससे दोष नहीं लगता

पंचक में लकड़ी इक्ट्‌ठा करना मना है लेकिन अगर किसी अत्यंत जरूरी कार्य या फिर घर में ईंधन या हवन आदि के लिए लकड़ी लाना बेहद जरूरी हो तो आप इससे लगने वाले दोष से बचने के लिए आटे का पंचमुखी दीया बनाएं और उसे किसी शिवालय में रख आएं. इससे दोष नहीं लगता

Published at : 04 Apr 2024 07:00 PM (IST)

ऐस्ट्रो फोटो गैलरी

ऐस्ट्रो वेब स्टोरीज

Read More at www.abplive.com