WhatsApp का बड़ा ऐक्शन, भारत में बैन किए 76 लाख अकाउंट, जानें वजह

WhatsApp, WhatsApp Account ban- India TV Hindi

Image Source : FILE
WhatsApp ने भारत में 78 लाख से ज्यादा अकाउंट बैन किए हैं।

WhatsApp ने एक बार फिर से लाखों भारतीय यूजर्स के अकाउंट बैन किए हैं। Meta के इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने यह ऐक्शन फरवरी 2024 में लिया है। इससे पहले कंपनी ने जनवरी में भी 67 लाख से ज्यादा अकाउंट भारत में बैन किए थे। वाट्सऐप ने नए IT Rules 2021 के तहत अपनी कंप्लायेंस रिपोर्ट जारी की है, जिसमें भारतीय यूजर्स के अकाउंट्स पर लिए गए ऐक्शन की जानकारी शेयर की गई है। बड़े सोशल मीडिया और टेक कंपनी को हर महीने यह कंप्लायेंस रिपोर्ट जारी करनी पड़ती है।

WhatsApp द्वारा शेयर की गई जानकारी के मुताबिक, 1 फरवरी 2024 से लेकर 29 फरवरी 2024 के बीच इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने 76,28,000 (76.28 लाख) भारतीय यूजर्स के अकाउंट पर यह कार्रवाई की है। बैन किए गए भारतीय यूजर्स के अकाउंट्स में से 14,24,000 अकाउंट्स को कंपनी ने प्रोएक्टिवली बैन किया है। इन अकाउंट्स को किसी भी यूजर ने रिपोर्ट नहीं किया था।

फरवरी में मिली रिकार्ड शिकायतें

वाट्सऐप ने अपने मंथली कंप्लायेंस रिपोर्ट में बताया कि कंपनी के भारत में 500 मिलियन यानी 50 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हैं। इन यूजर्स द्वारा फरवरी 2024 में रिकॉर्ड 16,618 शिकायतें की गई हैं, जिनमें से 22 मामलों में ऐक्शन लिया गया है। वाट्सऐप द्वारा मेंशन किए गए “Account actioned” का मतलब है कि इन अकाउंट्स पर पहले भी बैन लगाया जा चुका है या फिर उन्हें रिस्टोर किया गया है।

कंपनी ने बताया कि हम अपने प्लेटफॉर्म पर मिले सभी ग्रीवांस का जबाब देते हैं, अगर वो डुप्लीकेट नहीं हो यानी उनके बारे में पहले रिपोर्ट नहीं किया गया हो। वाट्सऐप ने बताया कि 1 जनवरी से 31 जनवरी 2024 के बीच कंपनी ने 67.28 लाख अकाउंट्स को भारत में बैन किया था। इनमें से करीब 13.58 लाख अकाउंट्स को कंपनी ने बिना किसी यूजर द्वारा शिकायत करने से पहले ही बैन किया गया था।

लोकसभा चुनाव के लिए कंपनी ने की तैयारी

WhatsApp ने भारत में होने वाले अगामी लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर भी तैयारी की है। कंपनी अपने प्लेटफॉर्म पर अफवाहों और फर्जी कॉन्टेंट को हटाने के लिए काम कर रही है। यही नहीं, ऐसे अफवाहों और AI जेनरेटेड कॉन्टेंट को फैलने से रोकने के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है। इसके अलावा कंपनी ने पिछले दिनों अपने ऐप से इंटरनेशनल UPI पेमेंट सर्विस को भी शुरू किया है।

 

Read More at www.indiatv.in