Panasonic और IOCL ने मिलाया हाथ, बैटरी निर्माण के लिए बनाएंगे ज्वॉइंट वेंचर

Lithium-ion Batteries in India: पैनासोनिक ग्रुप Cylindrical Lithium-ion Batteries बनाने के लिए देश की सबसे बड़ी तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IOCL) के साथ एक ज्वॉइंट वेंचर बनाएगा। जापान स्थित बहुराष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी की समूह फर्म पैनासोनिक एनर्जी कंपनी लिमिटेड ने एक बाइंडिंग टर्म शीट पर हस्ताक्षर किए हैं और लिथियम-आयन बैटरी के निर्माण के लिए एक ज्वॉइंट वेंचर के गठन के लिए एक रूपरेखा तैयार करने के लिए आईओसीएल के साथ चर्चा शुरू की है।

बैटरी की मांग

एक बयान में कहा गया है, “यह पहल भारतीय बाजार में दो और तीन पहिया वाहनों और ऊर्जा भंडारण प्रणालियों के लिए बैटरी की मांग के प्रत्याशित विस्तार से प्रेरित है।” Cylindrical Lithium-ion Batteries का इस्तेमाल आमतौर पर उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स, बिजली उपकरण और इलेक्ट्रिक वाहनों में किया जाता है। पैनासोनिक एनर्जी ऑटोमोटिव लिथियम-आयन बैटरी बनाने वाली कंपनी है।

स्वच्छ ऊर्जा में बदलाव

बयान में कहा गया है कि दोनों कंपनियां भारत में स्वच्छ ऊर्जा में बदलाव को सुविधाजनक बनाने के लिए बैटरी टेक्नोलॉजी के उपयोग के संबंध में व्यवहार्यता अध्ययन से जुड़ी हुई हैं। इसमें कहा गया है कि कंपनियां इस साल की गर्मियों तक अपने सहयोग के विवरण को अंतिम रूप देने का लक्ष्य लेकर चल रही हैं।

शुद्ध-शून्य कार्बन उत्सर्जन

वहीं IOCL का टारगेट 2046 तक शुद्ध-शून्य कार्बन उत्सर्जन हासिल करने का है, जो 2070 तक पूरे देश के लिए शुद्ध-शून्य हासिल करने की भारत सरकार की योजना के अनुरूप है।इंडियन ऑयल के साथ अपनी साझेदारी के माध्यम से, पैनासोनिक एनर्जी का लक्ष्य CO2 उत्सर्जन को कम करने जैसी पर्यावरणीय चुनौतियों का समाधान करना है, साथ ही भारत की आत्मनिर्भरता में सुधार और वैश्विक ऊर्जा परिदृश्य में भारत की स्थिति को मजबूत करने के लिए एक पूर्ण आपूर्ति श्रृंखला पारिस्थितिकी तंत्र स्थापित करने में योगदान देना है।

बैटरी विकास और विनिर्माण में अपनी विशेषज्ञता का लाभ उठाते हुए पैनासोनिक एनर्जी एक स्थायी समाज के निर्माण में मदद करने के अपने मिशन को आगे बढ़ाते हुए, लिथियम-आयन बैटरी उद्योग के विकास और भारत के ऊर्जा परिवर्तन में योगदान देने का प्रयास कर रही है।

Read More at hindi.moneycontrol.com